Your browser does not support JavaScript!
ITDC ITDC ITDC ITDC ITDC ITDC ITDC ITDC ITDC ITDC ITDC ITDC ITDC

‘फास्टेूस्टी ग्रोइंग मिनीरत्नार अवॉर्ड’ से पुरस्कृकत

पीडीएफ़ मुद्रण ई-मेल

भारत पर्यटन विकास निगम  7वें डीएसआईजे पीएसयू वार्षिक पुरस्‍कार के दौरान ‘फास्‍टेस्‍ट ग्रोइंग मिनीरत्‍ना अवॉर्ड’ से पुरस्‍कृत

नई दिल्‍ली, 27 अप्रैल, 2016 – भारत पर्यटन विकास निगम को फास्‍टेस्‍ट ग्रोइंग मिनीरत्‍ना शीर्ष के अधीन 07वें दलाल स्‍ट्रीट इन्‍वेस्‍टमेंट जर्नल के सर्वश्रेष्‍ठ पीएसयू अवॉर्ड से पुरस्‍कृत किया गया है । यह पुरस्‍कार दि अशोक नई दिल्‍ली में 07वें दलाल स्‍ट्रीट इन्‍वेस्‍टमेंट जर्नल पीएसयू पुरस्‍कार के दौरान माननीय पर्यटन व संस्‍कृति तथा नागरिक उड्डयन राज्‍य मंत्री (स्‍वंतत्र प्रभार), डॉ महेश शर्मा द्वारा प्रदान किया गया ।

भारत पर्यटन विकास निगम लि. की ओर से इस सम्‍मान को ग्रहण करते हुए श्री उमंग नरूला ने इस उपलब्धि को अपने सहकर्मियों, संगठन के कर्मचारियों को समर्पित किया । आईटीडीसी जिस दिन से 1966 में स्‍थापित हुआ है, इसने कई परिवर्तन देखे हैं और आज भी यह सदैव की तरह खूबसूरत है । माननीय मंत्री जी श्री महेश शर्मा के सक्रिय नेतृत्‍व में और मेरे सभी सहकर्मियों, आईटीडीसी की मेरी टीम, जिन्‍हें मैं यह प्रतिष्ठित पुरस्‍कार समर्पित करता हूं, के अनवर सहयोग और प्रतिबद्धता के कारण ही हम इस पुरस्‍कार को प्राप्‍त कर पाए हैं ।

भारत पर्यटन विकास निगम, पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन भारत सरकार मिनीरत्‍ना – गैर उत्‍पादक श्रेणी के अंर्तगत प्रथम स्‍थान पर रखा गया है, जो पिछले तीन वर्षों से निवल लाभ और प्रचालन लाभ में उच्‍चतम सीएजीआर के कारण तीव्रतम दर पर आगे बढ़ रहा है । यह शुद्ध मालीयत और नियोजित पूंजी पर उच्‍चतम रिर्टन प्राप्‍त करते हुए अपने साथ के अन्‍य सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों से आगे बढ़ गया है ।

इन प्रतिष्ठित पुरस्‍कारों के साथ अब अपने 07वें संस्‍करण में, डीएसआईजे औद्योगिक तथा आर्थिक विकास के प्रमुख उत्‍प्रेरकों के रूप में सार्वजनिक क्षेत्र के निगम की भूमिका को मान्‍यता दे रहा है

भारत पर्यटन विकास निगम के विषय में

भारत पर्यटन विकास निगम 1966 में देश में पर्यटन अवंसरचना के विकास और विस्‍तार के जनमत के साथ निगमित किया गया था । निगम विकास, संवृद्धि तथा अपने अतिथियों को विश्‍व-स्‍तरीय सेवाओं और सुविधाओं पर सत्त प्रयासों सहित आगे बढ़ रहा है । होटलों के प्रचालन के अलावा, आईटीडीसी ने  गैर होटल क्षेत्रों यथा टिकटिंग एक ही छत के नीचे

टिकटिंग, टुअर व ट्रेवल्‍स, समारोह प्रबंधन, शुल्‍क मुक्‍त खरीदारी, प्रचार व मुद्रण परामर्श, इंजीनियरिंग परामर्श, ध्‍वनि व प्रकाश प्रदर्शन संस्‍थापना, आतिथ्‍य शिक्षा व कौशल विकास जैसे विभिन्‍न सेवाओं को प्रदान करने हेतु विचलन किया है ।